10+ Golden Share Market Tips in Hindi – शेयर बाजार टिप्स

Important – Share Market Tips in Hindi

शेयर मार्केट टिप्स (Share Bazar Tips in Hindi)

Stock Market से Equities यानि की Share खरीद कर पैसा बनाना इतना भी आसान नही है, जितना की एक नये निवेशक सोचते है। इसमें आपको हर समय बाजार के रुख पर कड़ी नजर बनाये रखनी होती है, साथ ही Research और बेहतर Planning करनी होती है।

इस article – Share Market Investing Tips in Hindi में मैंने काफी शोध करके आपके लिए 10 से भी ज्यादा कुछ ऐसे टिप्स और रूल्स को लिखें है जिनको शेयर मार्केट में निवेश करने के पहले आपको जरूर पढ़ लेने चाहिये। ये सभी टिप्स आपको share market में invest करने के लिए आपकी कुछ परेशानियों और कमियों को दूर करेंगे।

share-market-tips-hindi

शेयर खरीदते और बेचते समय इन बातों को ध्यान में रखे

1. पहले सीखें – First Learn

कभी भी बिना कुछ जाने समझे स्टॉक मार्केट में नहीं कूदना चाहिए। पहले शेयर बाजार को अच्छे से समझिये तब इसमें आइये। सीखने के लिए अपने आप को समय दीजिये, business related newspaper को पढ़िए, कंपनियों के बिज़नेस प्लान को समझिये, balance sheet को पढ़ना सीखिए, P/E, EPS, ROE को अच्छे से जान लीजिये तब किसी Share Bazar में invest कीजिये।

2. Research और Planning करें

किसी भी कंपनी के शेयर को खरीदने के पहले या शेयर बाजार में पैसे लगाने से पहले रिसर्च और गहरी प्लानिंग कीजिये। बाजार पर नजर रखिये, आप जिस कंपनी के शेयर को खरीदना चाहते है, उसके पिछले रिकार्ड्स को देखिये, उसके मैनेजमेंट को देखिये, भविष्य में होनेवाले किसी राजनितिक और सामाजिक परिवर्तनों पर भी गौर कीजिये। बाजार के मंदी या तेजी को देखते रहिये।

3. Long Term Investment सबसे अच्छा

शेयर बाजार में आपको लंबे समय के लिए निवेश करना चाहिए। इससे मुनाफा होना निश्चित है। Intra-day Trading से कम समय में ज्यादा पैसे कमाये जा सकते है लेकिन इसमें रिस्क है। इससे आपको loss भी हो सकता है।

4. उसी का खरीदे जिसे आप जानते और समझते है

शेयर बाजार में आप किसी भी कंपनी का शेयर खरीद सकते है, लेकिन आपको शुरुआत में उसी कंपनी का शेयर खरीदना चाहिए जिसे आप जानते है, यानि की दैनिक जीवन में जिसके products का उपयोग करते है। जैसे की – मैगी, तेल, biscuit इत्यादि बनाने वाली कंपनी को आप ज्यादा समझ पायेंगे जबकि किसी Hardware Manufacturing, Software, Web Developing, वाली company को समझने में थोड़ा वक्त लगता है। जिस कंपनी का बिज़नेस आपको अच्छे से समझ में आये पहले उसी में इन्वेस्ट करें।

5. बहुत सारे शेयर एक साथ न खरीदें

एक तरह के कंपनी के बहुत सारे शेयर एक ही बार न खरीद ले। आपको कई अलग-अलग सेक्टर के कंपनियों के शेयर को थोड़ा-थोड़ा करके खरीदना चाहिए। आप अपने शेयर के लिमिट को साप्ताहिक या मासिक आधार पर बढ़ा सकते है।

6. अच्छी कंपनी को चुनें

आपको किसी ऐसी कंपनी के Equity(शेयर) को खरीदना चाहिए जो आर्थिक रूप से काफी मजबूत हो, साथ ही उसका मैनेजमेंट कैसा है ये भी देख लें। क्योंकि जो कंपनी आर्थिक रूप से पंगु होती है या फिर जो अपने मैनेजमेंट को लेकर परेशान रहती है उसके शेयर के वैल्यू कम होने के chances बढ़ जाते है। निफ्टी और सेंसेक्‍स में शामिल कंपनियां अपने सेक्टर की काफी अच्छी कंपनियां होती है, आप इनके शेयर को बेझिझक खरीद सकते है।

7. Portfolio के लिए Risk Profile बनायें

स्टॉक एक्सचेंज में निवेश करना रिस्क भरा होता है, इसलिए आप अपना रिस्क प्रोफाइल जरूर बना लें। इसका यह मतलब है की आप कितना रिस्क ले सकते है। ज्यादातर brokers आपको stop loss order का option देते है। इससे ये फायदा होता है की जैसे ही शेयर के भाव में गिरावट आने लगती है तब आपका शेयर ऑटोमेटिकली आपके ब्रोकर के द्वारा एक निश्चित मूल्य(particular price) पर बेच दिया जाता है। इससे आप नुकसान उठाने से बच जाते है।

8. Set Target Price

शेयर बेचने के लिए हमेशा अपने शेयर का एक निश्चित मूल्य निर्धारित करें। जैसे की आपने किसी शेयर को 1000 हजार के भाव में ख़रीदा और उसके बेचने का एक टारगेट सेट कर दिया की जब इस share के भाव 1300 हो जायेंगे तब हम इसे बेच देंगे। आपके शेयर का भाव जैसे ही टार्गेट प्राइस पर पहुंचे आप उसे बेंच दें।

9. Invest in Different Sectors

एक ही तरह के business में अपने सारे पैसे न लगाये। थोड़ा-थोड़ा करके आपको कई प्रकार के कंपनियों में अपने पैसे को लगाना चाहिये। यदि आप एक ही company में अपने कमाई के पैसे को invest करेंगे तो हो सकता है की आपको कभी-कभी ज्यादा नुकसान या फिर ज्यादा लाभ हो जाये। ये कंपनी के profit and loss पर निर्भर करता है।

10. अतिरिक्त पैसों को ही निवेश में डाले

निवेश करते समय ये ध्यान में रखे की आप अपने बचत के अतिरिक्त पैसों को ही Stock Market में लगायें।

11. P/E Ratio(Price/Earning Ratio) – पि/ई अनुपात क्या है

पी/ई अनुपात यानि की आपकी कितनी कमाई होगी। इस पर सबसे ज्यादा ध्यान देने की जरुरत होती है। P/E Ratio जानने के लिए आपको पहले EPS(Earning per Share) निकालना होगा। इसे नेट प्रॉफ़िट को शेयर्स की संख्या से भाग करके निकालते है।
मान लीजिये की एक कंपनी जिसका नाम AB है, के 1000 शेयर है और इसका नेट प्रोफिट 1 लाख है तो इस तरह से इसका एक शेयर पर कमाई यानि की EPS 100 रुपए होगा।

P/E निकालने के लिए Market Price को EPS से विभाजित(भाग) करते हैं। जैसे की किसी कंपनी AB का मार्केट प्राइस 500 रुपए और ईपीएस 100 रुपए है तो उसका P/E 5 रूपए होगा।

12. अपने Emotion को हावी न होने दे

शेयर मार्किट में नुकसान होने का डर और शेयर के भाव बढ़ने के बाद उसे टारगेट प्राइस के बाद भी बढ़ने देने का लालच आपको जोखिम में डाल सकता है। अतः अपने सूझ-बुझ से काम ले, लालच और डर से बिलकुल दूर रहें।

13. समय को हाथ से नही निकलने दे

ये एक ऐसी सलाह है जिसे यदि आप किसी financial planners से शेयर बाजार से संबंधित सलाह मांगेंगे तो सबसे पहले देंगे। शेयर की खरीद-बिक्री के दौरान आपको बिल्कुल time waste नही करना चाहिये। यदि आपका शेयर target price पर पहुँच गया है, तब उसे जल्दी से बेंच दे। शेयर के भाव और बढ़ने का इंतजार न करें। और यदि आपके शेयर के भाव घट रहे है तब ये इन्तजार न करे की कुछ समय बाद इसके भाव फिर बढ़ेंगे। ऐसा करने से नुकसान कम होता है।

———–
लेख: Share Market Tips in Hindi – शेयर बाजार टिप्स (Share Bazar Tips in Hindi) को पढ़ने के बाद आपको ये लेख कैसी लगी अपनी प्रतिक्रिया जरूर दें, इस पोस्ट में कई ऐसे टर्म्स है जो आपके लिए थोड़ा confusing हो सकते है, जैसे की Portofolio, Risk Profile, Stop Loss Order etc. हम जल्दी ही इनपर detail में आर्टिकल्स लिखेंगे।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *