Ohm’s law in Hindi – आसानी से समझे ओम का नियम

ohm-law-hindi

ओम का नियम – Ohm’s law in Hindi

इस नियम का प्रतिपादन सर्वप्रथम जर्मन भौतिकशास्त्री तथा गणितज्ञ जॉर्ज साइमन ओम ने किया था।

ओम का नियम क्या है?

ओम का नियम भौतिकी के सबसे महत्वपूर्ण नियमों में से एक है। ओम का नियम एक सूत्र(formula) है जिससे विभवान्तर(Potential or Voltage), धारा(Current) तथा प्रतिरोध(Resistance) के बीच संबंध ज्ञात किया जाता है। Electronics के क्षेत्र में इसकी महता Einstein के सापेक्षता के सिद्धांत से कतई कम नही है।

ओम का नियम – इसकी परिभाषा

ओम का नियम(Ohm’s law) – यदि भौतिक अवस्थायें जैसे की ताप, लंबाई इत्यादि स्थिर हो, तब किसी विधुत परिपथ में प्रतिरोध के सिरों पर उत्पन्न विभवान्तर(वोल्टेज) उस प्रतिरोध में प्रवाहित होने वाली धारा(flow of current) के समानुपाती होता है।
यानि की V ∝ I
इसको V=IR भी लिख सकते है।

ओम के नियम का सूत्र

ओम के नियम का सूत्र: V=IR है।
V=IR
या, V=IxR
इस सूत्र(Formula) के द्वारा आप वोल्टेज, धारा और प्रतिरोध का मान निकाल सकते हैं।
Note : यहाँ
V = विभान्तर(Voltage), इकाई Volt(V) हैं
I = धारा(Current), इकाई Ampere(A) हैं
R = प्रतिरोध(Resistance), इकाई Ohm(Ω) हैं

यदि आपको विभान्तर यानि Voltage का मान पता करना है तो
Formula:- V=IxR
यदि आपको धारा यानि Current का मान पता करना है तो
Formula:- I=V/R
यदि आपको प्रतिरोध यानि Resistance का मान पता करना है तो
Formula:- R=V/I
Note : “ओम का नियम तभी लागु होता है जब भौतिक अवस्थायें Constant(स्थिर) होती है।”

Example of Ohm’s law – ओम के नियम का उदहारण

Example 1: यदि I=5A और R=8Ω हो तो Voltage(V) क्या होगा?

ohm-law-example-1

Formula:- V=IxR
या, V=5×8
या, V=40volts

Example 2: यदि V=10V और R=5Ω हो तो Current(I) क्या होगा?

ohm-law-example-2

Formula:- I=V/R
या, I=10/5
या, I=2ampere

Example 3: यदि V=12V और I=4A हो तो Resistance(R) क्या होगा?

ohm-law-example-3

Formula:- R=V/I
या, R=12/4
या, R=3ohm

लेख: भौतिकी में ओम का नियम(Ohm’s law – in Hindi) आपको अब समझ में आ चुकी होगी, ये लेख आपको कैसी लगी अपनी प्रतिक्रिया जरुर दें।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *