निराश करने वाली परिस्थिति में भी खुश कैसे रहे

be-happy-hindi
कभी कभी life आपको दुःख के गहरे खाई में फेंक देता है, जहाँ आपको केवल और केवल अँधेरा ही नजर आता है। इस situation में आप ये नही समझ पाते की क्या करें। और सबसे जो बुरी बात है वो है आपका उदास हो जाना, यह normal है, जब भी आपको दुःख पहुँचता है आप उदास हो जाते है।

इस तरह के कुछ unhappy situation के उदहारण :

  • आप जिसे सबसे ज्यादा प्यार करते करते है, वो आपसे दूर चला जाये
  • जब आपको कोई बुरी खबर मिलती है
  • किसी कारणवश आपकी आर्थिक स्थिति ख़राब हो जाती है
  • आप जहाँ काम करते हो वहाँ आपके लिए एक bad day हो
  • आपका कोई best friend या फिर जीवन-साथी आपसे नाराज हो जाये,
  • आप बीमार पड़ जाये या बहुत थक जाये
  • किसी कारणवश शरीर के किसी भाग में तेज दर्द शुरू हो जाये
  • या फिर किसी ने आपके भावना को चोट पहुंचाई हो

ये सब परिस्थितियां सच में बहुत ही पीड़ादायी होती है, और हम इन निराश करने वाली परिस्थिति में उदास और मायूस हो जाते है। आपको ऐसा नही लगता की क्यों कभी-कभी जीवन बोझ सा बन जाता है, क्या कुछ ऐसा नही किया जा सकता जिससे हमारे जीवन में कभी भी इस तरह की कोई unhappy situation ना आयें। क्या चीजें बेहतर क्यों नहीं हो सकतीं?

ये सब परिस्थितियां हमारे नियंत्रण से बाहर होती है। और हम इन सब चीजों को होने से नही रोक सकते, कम से कम आसानी से तो ये सब ठीक नही ही होती है। लेकिन इन सबका ये मतलब नही होता की आप इन विपरीत और निराश करने वाले moments में निराश और दुखी हो जाये, और आपको खुश होने की कोई वजह न मिले।

How to Be Happy When You are in an Unhappy Situation – in Hindi

आप इन निराश करने वाली परिस्थिति में भी खुश रह सकते है, यदि आप यहाँ दिए गये इन बातों को माने तो।

  1. अपने आप को दुखी होने दें। जब कभी भी हमलोग बुरा महसूस करते है, दुःख महसूस करते है, हमलोग इससे दूर रहना चाहते है। ऐसी परिस्थिति को अनदेखा करना चाहते है। इन क्षणों में हम ऐसा सोचते है की सब ठीक है, मैं ठीक हूँ, कुछ नही हुआ है, और इन्ही सब विचारों का एक ढाल बना लेते है। कई लोग तो drugs भी लेने लगते है। ये सभी मनुष्यों का एक common response है, जब वे निराशाजनक परिस्थिति में होते है। लेकिन असल में दुःख और निराशा से दूर भागना उदासी को भगाने का एक अच्छा तरीका नही है। यह आमतौर पर आपके दुःख को और बढ़ाता है तथा चीजों को और बदतर बना देता है।
    इन सबके बजाय हमें अपने आपको ये feel कराना चाहिए की it is OK to feel unhappy, it is OK to feel pain. पूरी तरह से उस दुःख के गहराई में जाने के लिए रुकिए, और अपने आप को इन सब बातों को महसूस होने दीजिये। देखिये की क्या आपका दुखी होना सही है, इसे explore कीजिये। मैं मानता हु की यह सही नही है और यह आपके लिए सुखद भी नही होगा, लेकिन यह आपको जान से भी नही मारेगा। और वास्तव में, यही से आपको ख़ुशी ढूढने की एक वजह मिलेगी, जिससे आपकी निराशा दूर होगी।
  2. निराशा, दर्द, दुःख और डर को जीवन के एक अभिन्न भाग के रूप में देखे। अभी आप अपने दर्द और दुःख में खो चुके है, आप उससे दूर नही जा रहे बल्कि उसे महसूस कर पा रहे है। यह जो निराशा, डर, दुःख, गम, दर्द है, वह आपको जीवित होने का अहसास कराती हैं। जीवन शुन्य और सादा नही होता, और यह भरा हुआ और रंगीन भी नही होता, न ही आरामदायक होता है। कभी-कभी जीवन का मतलब दर्द को महसूस करना, डर को महसूस करना, अपने को औरों से कटा हुआ महसूस करना भी होता है। आप कहेंगे की “क्या बकवास है” या फिर कहेंगे की “वाह, क्या बात है।” कल्पना कीजिये, जब आपको एक दिन पता चलेगा की आप उड़ भी सकते है, तब क्या होगा। डर होगा, आपको एकाएक झटका लगेगा, आपको उड़ने की इच्छा होगी, excitement होगी, आनंद मिलेगा, ख़ुशी मिलेगी, और at last, fearless flight के बाद balance बिगड़ने से गिर परे तो, दर्द होगा, दुःख होगा, निराशा होगी। यही तो जिन्दगी है। और ये सब जीवन का एक inseparable part है।
  3. कृतज्ञता प्राप्त करें। अब आप ये समझ चुके होंगे की निराशा जीवन का ही एक हिस्सा है, और इससे भागना तो बिल्कुल नही चाहिए और न ही उदास होना चाहिए। जब आप निराश हो तब आप ऐसे चीजों को खोजें, जो आपके लिए हो या फिर ऐसे चीजों को जिससे आपको ख़ुशी मिले। छोटी-छोटी बातें, जैसे की पत्ते को हवा में उड़ते हुए देखना, किसी को हँसते हुए देखना। आप यह अहसास करे की वो पत्ता आपके लिए ही हवा में उड़ रही है, आपको ख़ुशी मिलेगी। या फिर उस व्यक्ति को देखे जो हँस रहा है, आपके चेहरे पर एक smile जरूर आएगी। निराशा और दुःख के समय प्रकृति तथा लोगों के साथ एक अच्छा रिश्ता बनाइये। यदि उस समय आप अपने favourite foods या fruits की गंध भी सूंघ पा रहे है तो, तो ऐसा सोचिये की ये गंध आपके लिए ही हवायें लेकर आयी है। Gratitude को खोजिये, आप अभी भी कह सकते हैं की ये जो लेख आप पढ़ रहे है, वो आपके लिए ही लिखी गयी है। ऐसा feel कीजिये की सब आपके लिए है, आपको ख़ुशी मिलेगी।
  4. जीवित रहने में ख़ुशी पायें। आप जीवित है, आपकी सांसे चल रही है, आपकी धड़कन चल रही है, आप अपने आप को महसूस कर पा रहे है, आप ये फील कर पा रहे है की ख़ुशी तो आपके पास ही है, आप कुछ भी कर सकते है। You can do everything you like. आप अभी गाना गा सकते है, आप इस गंभीर स्थिति में भी मुस्कुरा सकते है, आप किसी अजीज को याद कर मुस्कुरा सकते है, अपने बीते हुए अच्छे पलों को यादकर मुस्कुरा सकते है, आप यह सोच सकते है की जीवन में ख़ुशी और दुःख दोनों आते रहते है, तो फिर उदास क्यों होना। इन छोटी-छोटी बातों में भी आप ख़ुशी ढूढ़ कर खुश हो सकते है।

मैं जानता हूँ की, उस समय आपको ये बातें कठिन लगेगी। मैं ये नही कह रहा की ऐसा करने से सब कुछ तुरंत बेहतर हो जायेगा, और आप अपनी उदासी को दूर कर पाएंगे। लेकिन यह जो बातें मैंने लिखी है वो हमलोगों को ऐसे वक्त में ख़ुशी और आनंद खोजने की एक वजह देगी, यदि हमलोग हिम्मत करके ख़ुशी खोजने की कोशिश करेंगे।
Thanks everyone and keep smile.


लेख :
How to Be Happy When You are in an Unhappy SituationWritten by Leo Babauta
निराश करने वाली परिस्थिति में भी खुश कैसे रहेTranslated and modified in Hindi by P. Kumar

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *