झाँसी की रानी के वंशज और पुत्र दामोदर राव की मार्मिक कहानी

मन में कल्पना कीजिए, सन् 1857 के स्वतंत्रता संग्राम का भीषण युद्ध चल रहा है झाँसी की महारानी लक्ष्मीबाई अपने दत्तक पुत्र दामोदर राव को पीठ से बाँधें हुए युद्ध कर रही हैं। थके झुंझलाते बच्चे को नींद आ जाती है और वो सो जाता हैं। अचानक तोप का एक गोला महारानी के घोड़े से कुछ दूर गिरता है, जोड़...